रेशम संचालनालय

मध्यप्रदेश शासन

टसर

  • टसर (wild silk) को सामान्य भाषा में कोसा कहते हैं।
  • इसे "वन्या सिल्क " भी कहते हैं ।
  • यह semi domesticated (पालित) एवं wild रूप मैं पाया जाता हैं
  • semi domesticated (पालित) का पालन हितग्राहियों के माध्यम से साजा, अर्जुन के वृक्षों पर किया जाता हैं ।
  • प्राकृतिक रूप से जंगली टसर साल के वृक्षो पर पाया जाता हैं ।
  • पालित अथवा domesticated टसर के प्राथमिक खाध पौधे अर्जुन और साजा होते हैं । इसके अतिरिक्त लेंडिया, बेर अन्य वृक्षों पर भी इसका पालन संभव हैं ।
  • साल पर पाये जाने वाले प्राकृतिक टसर को "लोकल रैली“ कहते हैं।
  • इसके अतिरिक्त अन्य प्राकृतिक टसर होते हैं बहुभक्षी होते हैं उदा0 ”लारिया“ ।