संत रविदास मध्यप्रदेश हस्तशिल्प एवं हाथकरघा विकास निगम

मध्यप्रदेश शासन

गतिविधियाँ

सभी विकासात्मक योजनाओं का अंतिम उददेश्य उत्पादों की बिक्री है। निगम द्वारा शिल्पियों व बुनकरों को निम्नानुसार विपणन सहायता दी जाती हेै-

  1. व्यावसायिक गतिविधि:
    उच्च गुणवत्ता के शिल्प व हाथकरघा वस्त्रों का बाजार की मांग व निगम की क्रय विक्रय क्षमता के अनुरूप एम्पोरियमों में बिक्री के लिए क्रय।
  2. विज्ञापन संबंधी गतिविधियों:
    देश भर में आयोजित प्रदर्शनियों व मेलों में डायरेक्ट मार्केट लिंकेज के लिए शिल्पियों/बुनकरों को सीधे ग्राहकों व व्यापारियों के सम्पर्क में आना।
  3. सरकार की आपूर्ति:
    क्लस्टर्स में आने वाले थोक व्यापारियों को शिल्पियों व बुनकरों से मिलवाना जिससे वे अपने उत्पाद सीधे प्रायवेट सेक्टर को बिक्री कर सके। इसी प्रकार शिल्पियों/बुनकरों को बाजार अध्ययन के लिए महानगरों में भेजना।
  4. संस्थागत गतिविधियों:
    • हाथकरघा व हस्तशिल्प क्लस्टर्स में 29 विकास केन्द्रों का नेटवर्क।
    • 23 मृगनयनी एम्पोरियम(10 प्रदेश के बाहर)
    • इन्दौर, भोपाल व ग्वालियर में अर्बन हाट।