मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोघोग बोर्ड

मध्यप्रदेश शासन का उपक्रम

परिचय

मध्य प्रदेश शासन द्वारा स्व-सहायता समूहों के उत्पादों  को बाजार उपलब्ध कराने के लिए व्यापारिक दृष्टिकोण से आकर्षक पैकेजिंग, गुणवत्ता नियंत्रण, मानकीकरण एवं यथोचित दर के आधार पर खाद्य पदार्थों के विपणन के  लिए प्रोजेक्ट विंध्यावैली के नाम से एक अभिनव परियोजना वर्ष 2002 में मध्य प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के सहयोग से प्रारंभ की गई । तत्पश्चात् इस परियोजना की सफलता से प्रोत्साहित होकर मध्यप्रदेश शासन द्वारा भारत सरकार ग्रामीण विकास मंत्रालय के विशेष प्रोजेक्ट (एस.जी.एस.वाय.) योजनांतर्गत रु. 15.00 करोड़ को पंचवर्षीय योजना स्वीकृत की गई। परियोजना अन्तर्गत अब तक रुपये 7.50 करोड़ की वित्तीय सहायता प्राप्त हुई है। परियोजना में 75 प्रतिशत अंशदान भारत सरकार एवं 25 प्रतिशत अंशदान राज्य सरकार का है।
परियोजना का प्रमुख उद्देश्य ब्राण्ड विकसित कर ग्रामीण क्षेत्र के उत्पादकों को बाजार उपलब्ध कराकर उसका उचित मूल्य दिलाना एवं उन्हें निरन्तर रोजगार उपलब्ध कराना हैं। इस हेतु निम्नानुसार सुविधाए/सहायता उपलब्ध कराई जाती हैं।

  • ग्रामीण उत्पादों का मूल्य संवर्धन (वेल्यू एडिशन)
  • ग्रामीण क्षेत्र में कौशल उन्नयन
  • ग्रामीण उत्पादों का गुणवत्ता नियंत्रण एवं विकास
  • आकर्षक पैकेजिंग का विकास एवं मानकीकरण
  • विपणन एवं निर्यात सहायता
  • दूरदराज के क्षेत्रों मेे भी ग्रामीण उत्पादों का प्रचार प्रसार कर विपणन करना।

इस योजना का अभिनव पहलू यह है कि परियोजना सीधे स्वसहायता समूहों को लाभान्वित करती है।
शुरुआती वर्षों में प्रोजेक्ट विंध्या वैली को हिन्दुस्तान लीवर लिमिटेड, मुम्बई से विपणन एवं तकनीकी योगदान मिला।

वर्तमान में विंध्या वैली प्रोजेक्ट अंतर्गत मसालों (हल्दी, मिर्च, धनिया)  अचार, पापड़, सोया बड़ी, शहद, अगरबत्ती, हर्बल शेम्पू, क्रीम, आंवला मुरब्बा व विभिन्न मसाले (चना मसाला, सांभर मसाला, पावभाजी मसाला, कसूरी मैथी) गेहूं, आटा, बेसन, मिश्रित अनाज आदि का उत्पादन किया जा रहा है।
विंध्या वैली के उत्पादों की आपूर्ति हेतु इंदौर, भोपाल, ग्वालियर एवं जबलपुर में सुपर डिस्ट्रीब्यूटर नियुक्त किए गए हैं। सुपर डिस्ट्रीब्यूटर तथा डिस्ट्रीब्यूटर्स द्वारा स्टॉकिस्ट/सब स्टॉकिस्टों को माल की आपूर्ति की जाती है एवं स्टॉकिस्टों के माध्यम से फुटकर विक्रेताओं द्वारा उपभोक्ताओं को विक्रय किया जाता है।

सम्पर्क सूत्र:
मुख्यालय स्तर पर श्री एस.आर.पंवार, महाप्रबंधक, (विंध्यावैली)
फोन: 0755-2552721, मो. 7869601468
ई-मेल: vindhyavalley@gmail.com